healthdetail.in-Hiccups Cause in Hindi

क्या आपको पता है, क्यों आती है हिचकी – Hiccups Cause in Hindi

क्या आप जानते है, क्यों आती है हिचकी – Hiccups Cause in Hindi



वैसे हिचकी आना कोई बड़ी समस्या नहीं है और शायद ही कोई ऐसा व्यक्ति हो जिसे कभी हिचकी नहीं आई हो| जब भी हमें हिचकी आती है हम कुछ घरेलु उपायों को अपनाकर हिचकी ठीक कर लेते है पर क्या कभी किसी ने यह सोचा है की हिचकी आने की वजह क्या है (Hiccups Cause in Hindi) वैसे हमारे यहाँ हिचकी से जुड़ें कई अन्धविश्वास फैले हुए है, कुछ लोग मानते है की जब कोई आपको याद कर रहा हो तब हिचकी आती है या कुछ लोगो का मानना है की जब हम चोरी करके कुछ खाते है तब हिचकी आती है| परन्तु यदि बात विज्ञान की करें तो विज्ञान ऐसे किसी भी अन्धविश्वास को नहीं मानता| हिचकी के विषय में विज्ञान का मानना है की
“हमारे शरीर में पेट और छाती के बीच में डायफ्राम नामक मांसपेशी होती है यही मांसपेशी हमारी छाती व पेट को अलग-अलग हिस्सों में विभाजित करती है| डायफ्राम हमारे साँस लेने की क्रिया में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है| यदि किसी भी कारणवश हमारे डायफ्राम सिकुड़ जाते है, उस दौरान हमारे फेफड़े काफी तेज गति से हवा अंदर की ओर खींचने लगते हैं, जिस वजह से हमें साँस लेने में दिक्कत होती है, यही कारण है की हमें हिचकी आने लगती है|”
वैसे हिचकी आने का मुख्य कारण (Hiccups Cause) अभी तक पता नहीं चल पाया है| जो भी हिचकी से जुड़ीं हुई मुख्य चीजें है, उन्हें ही हिचकी की वजह माना जाता है|
तो आइये जानते है हिचकी आने के अनुमानित कारण क्या क्या होते है – Hiccups Cause in Hindi



क्या आपको पता है, क्यों आती है हिचकी – Hiccups Cause in Hindi

ज्यादा खाना खाने से –

यदि आप खाना को जरुरत से अधिक खाते है तो यह हिचकी का कारण बन सकता है| इसके आलावा वैज्ञानिको का मानना है की जो व्यक्ति शराब का अधिक मात्रा में सेवन करता है उसे हिचकी चलने की आशंका बढ़ जाती है|

जल्दी जल्दी खाना खाने से –

जब हम काफी तेज गति से खाना खाते है, उस समय हमारे गले में खाना अटकने का खतरा बढ़ जाता है या जब हम खाना को जल्दी जल्दी खाने के लिए पानी की सहयता से निवाला अन्दर गीलने की कोशिश करते है, उस समय हमें हिचकी चल सकती है| इसके आलावा बहुत अधिक मसालेदार या फिर स्पाइसी खाना खानें के कारण हिचकी चलने की सम्भावना बढ़ जाती है|

यह भी पढ़े – कम खाओ अच्छा खाओ और स्वस्थ रहो – Eat less eat well and stay healthy
यह भी पढ़े  – हल्दी वाला दूध पीने के फायदे – Turmeric Milk Advantage

गैस्ट्रिक की परेशानी –

कई बार ऐसा होता है की जब हमें गैस्ट्रिक की परेशानी या फिर पेट में दर्द होता है उस समय हमें हिचकी आने के चांस बहुत बढ़ जाते है| चिकित्सकों के अनुसार हिचकी चलने की एक वजह शरीर में खून की कमी होना या अधिक रक्तस्राव होना भी माना जाता है| यदि आपको लगे की हिचकी चलने की वजह खून की कमी या रक्तस्राव है तो हिचकी को सामान्य समस्या न समझे जल्द से जल्द डाक्टर की सलाह ले अन्यथा यह भविष्य में किसी बड़ी बीमारी का कारण भी बन सकती है|

दवा के असर के कारण –

एक रिपोर्ट की माने तो शरीर में आए बदलाव की वजह से ही हिचकी नहीं चलती है| बल्क़ि कई बार ऐसा होता है की किसी दवा के साइड इफेक्ट की वजह से भी हिचकी चलती है| वैसे दवा के साइड इफेक्ट के कारण हिचकी चलने की समस्या काफी कम बार होती है| परन्तु यदि आपको किसी विशेष दवाई के कारण हिचकी चलती है तो उसे दवा का सेवन बंद करें और जल्द से जल्द बीमारी के विषय में डाक्टर की राय लें|

यह भी पढ़े – क्या आप जानते है सेक्स से फैलने वाली इन बीमारियों से कंडोम भी नहीं बचा सकता – Condoms Can’t Protect these Sexually Transmitted Diseases
यह भी पढ़े – किस करने से होते है ये फायदे – Health Benefits of Kissing

किसी बीमारी के कारण –

पुरानीं बीमारी भी हिचकी चलने की एक वजह हो सकती है| वैसे इस तरह के लक्षण लोगो में कम देखने को मिलते है| लेकिन हिचकी अधिक समय से लगातार आपको परेशान कर रही है तो हो सकता है की ऐसा किसी पुरानी बीमारी की वजह से हो रहा हो| इसे कन्फर्म करने के लिए जरुरी है की डाक्टर की सलाह ली जाए|




हिचकी चलने के खतरे –

अधिकतर समय ऐसा देखा जाता है की हिचकी कुछ ही समय में रुक जाती है| परन्तु यदि किसी वजह से कई घंटे से हिचकी लगातार चल रही हो तो यह आपके लिए परेशानी की बात हो सकती है इससे बचने के लिए जल्दी डाक्टर से इलाज कराएँ| कई बार ऐसा होता है की लोगो को हिचकी दवा लेने के बाद भी 2-3 दिन तक लगातार चलती रहती है|


“क्या आपको पता है, क्यों आती है हिचकी – Hiccups Cause in Hindi” लेख से संबंधित सवाल या सुझाव के लिए आप कमेन्ट बॉक्स में कमेन्ट कर सकते हैं।

Leave A Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *